Monday, March 29, 2010

भूल

मर्केटिंग की ट्रेनिंग अपने कहीं से भी ली हो , उसमे सिखाया यही जाता है कि एक ग्राहक से कैसे पेश आना है. जब कोई इंसान ग्राहक बन कर हमारे सामने आता है तो हमें मौका मिलता है और  हम उस ट्रेनिंग का इस्तेमाल करते हैं अपना माल बेचने के लिए.

मेडिकल की ट्रेनिंग अपने कहीं से भी ली हो  उसमे सिखाया यही जाता है कि एक मरीज  से कैसे पेश आना है. जब कोई इंसान मरीज बन कर हमारे सामने आता है तो हमें मौका मिलता है और  हम उस ट्रेनिंग का इस्तेमाल करते हैं उसके इलाज के लिए .

परिवार में रहने  की ट्रेनिंग अपने कहीं से भी ली हो , उसमे सिखाया यही जाता है कि अपनो से कैसे पेश आना है. जब कोई इंसान अपना  बन कर हमारे सामने आता है तो तो हमें मौका मिलता है और हम उस ट्रेनिंग का इस्तेमाल करते हैं उससे सम्बन्ध बनाने के लिए.


धर्म  की ट्रेनिंग अपने कहीं से भी ली हो , उसमे सिखाया यही जाता है कि भगवान से कैसे पेश आना है. जब कोई इंसान जो भगवान का ही रूप है , हमारे सामने आता है तो हम न जाने  कैसे भूल जाते  हैं कि हमें उस ट्रेनिंग का इस्तेमाल करना है ,उसकी पूजा करने को. 

















No comments:

Post a Comment